Businees : घर से करें दुध का बिजनेस

 बिजनेस के बारे में सोच रहे हैं तो आपको ऐसे बिजनेस के बारे में बताए जा रहे हैं जिससे आप घर पर रहकर अपना बिजनेस स्टार्ट कर सकते हैं  तो यह है 

दूध का बिजनेस  इसमें आपको भैंस वालों से दूध लेना होगा  और उस दूध को डेरी या होटल पर बेचकर फायदा उठाना होगा आजकल गांव में लोग भैंस या गाय पालना पसंद करते हैं 

तो आप उनसे दूध लेकर दे सकते हैं इस बिजनेस के लिए ज्यादा खर्च करने की जरूरत नहीं है आप कम पूंजी से भी अपने बिजनेस को स्टार्ट कर सकते हैं 

बस आपके पास हौसला  होना चाहिए जिससे आपका मन उसमें लगा रहे इस बिजनेस से लोग कमा रहे हैं  क्यों ना हम भी इस बिजनेस को करके देखें

Businees : घर से करें दुध का बिजनेस


 दूध के बिजनेस में आवश्यक सामान

आपको साइकिल या मोटरसाइकिल  की जरूरत पड़ेगी और आपके पास दूध करने के लिए दो तीन कैन की आवश्यकता पड़ेगी जिसमें आप वहां से दूध भर कर ला सको दूध का काम घर से करने के लिए बहुत अच्छा है 

आजकल शहरों या गांव में भी दूध की बहुत डिमांड है दूध हर आदमी की जरूरत मंद चीज है


 यह बिजनेस आप कम पूंजी से भी कर सकते हैं पहले आपके पास थोड़ा दूध आएगा फिर बढ़ता रहेगा जब आप दूध खरीदते और  बेचते रहेंगे तो आपको खुद ही नॉलेज हो जाएगा इसमें क्या-क्या की कैसे-कैसे करनी होती है फिर आप  दूधिया बन जाते हैं 

जिससे आपका नाम फेमस होने लगता है दूध लेने के लिए लोग आपके ही पास आएंगे जिससे आप उनको भी दूध देकर फायदा उठा सकते हैं

Water : हमारे लिए पानी की कितनी आवश्यकता है  

कल्पना कीजिए किसी दिन जब आप सो कर उठे तो पता लगा कि आज नल में पानी नहीं आ रहा है आपको कैसा लगेगा माताजी अलग शोर कर रही हैं उन्हें बर्तन धोने खाना पकाने की जल्दी है पिताजी दाढ़ी बनाने स्नान करने के लिए खड़े हैं पूरे घर में सब लोग चिंतित हैं 

घर के बाहर जाकर देखा कि लोग बाल्टिया लेकर जल की तलाश में भाग रहे हैं जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है बच्चों को स्कूल जाने में देरी हो रही है घर में भोजन नहीं पक पा रहा है पिताजी को ऑफिस जाने में विलंब हो रहा है ऐसा लग रहा है

मानो जीवन रुक सा गया हो बताइए ऐसी स्थिति से आप पर क्या असर पड़ेगा आपने जाना पानी कितना महत्वपूर्ण है पानी के बिना जीवन सूना है 

सच ही कहा है 

बिन पानी सब सून अस्तु जल ही जीवन है 

Water : हमारे जीवन मे पानी की किया अहमियत है | आइये जाने


ग्रीष्म ऋतु में जब गर्म हवाएं चल रही होती हैं आपका एक मित्र आपके घर आता है उसका  प्यास से गला सूख रहा है  अंग शिथिल है और अत्यंत व्याकुल है  मुंह से आवाज भी नहीं निकल रही है आपने उसे आसन दिया और सत्कार में कुछ मिठाई और फल लाकर रख दिए वह दिन भाव से बोला भैया पहले ठंडा पानी पिला दीजिए जान निकली जा रही है पानी पीने के बाद उसके मुख पर चैतन्यता आ गई

सोचिए औऱ समझिये

आप अपने बगीचे में बैठे हैं लू से पीड़ित एक चिड़िया आपके पैरों के पास आकर फड़फड़ा कर गिर पड़ती है वह तड़पती हुई अपनी चोंच खोले हुए आंखें बंद कर लेती है आपने एक कटोरी में पानी लाकर उसकी चोंच को पानी में डुबो दिया और थोड़ा पानी उस पर   छिड़क दिया जल पीकर चिड़िया में चैतन्यता आ जाती है उसमें जीवन का संचार हो जाता है वह पंख फड़फड़ाती हुई उड़ जाती है हमने इस आर्टिकल में आपको यह समझाया है कि पानी की क्या कीमत होती है आपको दो उदाहरण पढ़कर समझ आ गया होगा

Doctry : थर्मामीटर किया है | आइये जानते हैं

डॉक्टरी थर्मामीटर अपने साथियों की सहायता से या अध्यापक की मदद से आप देखते हैं कि डॉक्टरी थर्मामीटर में एक लंबी बारीक तथा एक समान व्यास की कांच की नली होती है 

इसके एक सिरे पर एक बल्ब होता है बल्ब में पारा भरा होता है बल्ब के बाहर नली में पारे की एक पतली चमकीली धारी देखी जा सकती है थर्मामीटर में आपको ताप मापने का एक माफ क्रम स्केल भी दिखाई देगा उपयोग किए जाने वाला यह माफ क्रम सेल्सियस स्केल है जिसे डिग्री सेल्सियस द्वारा दर्शाते हैं 

Doctry : थर्मामीटर किया है | आइये जानते हैं


डॉक्टरी थर्मामीटर से हम 35 ℃ से 42 ℃ तक के ताप ही माफ सकते हैं डॉक्टरी थर्मामीटर को केवल मानव शरीर का ताप मापने के लिए डिजाइन किया गया है 

मानव शरीर का सामान्य ताप 37 ℃ है ध्यान रहे ताप को  इसके मात्रक के साथ व्यक्त किया जाए यह आवश्यक नहीं है कि प्रत्येक व्यक्ति के शरीर का सामान्य ताप 35 ℃ हो यह कुछ अधिक अथवा कुछ कम भी हो सकता है

Engineering : के उधोग मैं भारत

इंजीनियरिंग उद्योग स्वतंत्रता प्राप्ति से पूर्व इंजीनियरिंग उद्योग की दृष्टि से भारत अत्यंत पिछड़ी हुई दशा में था छोटे बड़े सभी प्रकार के यंत्र एवं उपकरण तथा अन्य मशीनी सामान विदेशों से ही आयात करने पड़ते थे औद्योगीकरण के विकास के लिए मशीनरी एवं अन्य पुर्जो का निर्माण देश में ही होना अत्यंत आवश्यक होता है

 1947 के पश्चात देश में ही हल्के  भारी इंजीनियरिंग  उत्पादों के निर्माण के संबंध में योजनाबद्ध कार्यक्रम प्रारंभ कर दिए गए थे अब भारत में सभी प्रकार के वाहन उनके पुर्जे रेल के इंजन तथा डिब्बे कृषि यंत्र व उपकरण बिजली के विभिन्न उपकरण तथा कपड़ा इस्पात चीनी उद्योग के लिए मशीनों आदि का उत्पादन बड़ी मात्रा में होने लगा है 

Engineering : के उधोग मैं भारत


रांची का भारी B. H.E.L. 

विशाल मशीनों के निर्माण के लिए प्रसिद्ध है हिंदुस्तान मशीन टूल्स के कारखाने देश के विभिन्न भागों में फैले हैं इनमें से बैंगलोर एवं पिंजोर स्थिति इकाइयों का मुख्य स्थान है 

यहां अंतरराष्ट्रीय स्तर की अनेक वस्तुओं का उत्पादन किया जाता है हल्के इंजीनियरिंग उपकरणों के उत्पादन में भारत विकासशील देशों में महत्वपूर्ण स्थान रखता है 

भारत देश ने 

अफ्रीका और एशिया के अनेक देशों में औद्योगिक केंद्रों की स्थापना में सहयोग किया है भारत में विश्व के अनेक देशों में कई परियोजना को पूरा कर इंजीनियरिंग दक्षता  और उत्पादन द्वारा औद्योगिक प्रगति का परिचय प्रस्तुत किया है 

आज भारत विविध प्रकार की इंजीनियरिंग वस्तुओं का विदेशों को निर्यात करता है सन 1998 - 99 मैं भारत को इन वस्तुओं के निर्यात से कुछ करोड़ों रुपए की विदेशी मुद्रा प्राप्त हुई थी

 AAVLE : के फायदे जो आप घर पर कर सकते हैं

अगर आप आंवलों से घर पर ही अपना उपचार करना चाहते हैं तो देर किस बात की हमने आपको कुछ घरेलू नुस्खे बताये हैं । जो आप आंवलो से अपने घर पर ही बनाने के बारे मे बताये हैं। 

1 : सिर चकराना 

गर्मियों में चक्कर आते हो जी घबराता हो तो आंवले का शरबत की बहुत ही फायदेमंद है

2 :  बलगम के लिए 

आंवला सूखा 2 ग्राम मुलेठी 2 आम बारीक  करके दिन में दो बार पानी  के साथ खाने से बलगम साफ हो जाता है

AAVLE : के फायदे जो आप घर पर कर सकते हैं
ZidiHow


3 : लिकोरिया के लिए 

आंवला 3 ग्राम बारीक  करके 6 ग्राम शहद में मिलाकर दिन में एक बार 15 दिन खाएं खटाई से परहेज करें दिल की धड़कन के लिए जिन आदमियों का दिल बहुत ज्यादा धड़कता हो 50 ग्राम आंवले के मुरब्बे पर चांदी के वर्क लगाकर सुबह निहार मुंह कुछ दिन खाएं बहुत फायदा होगा

ATM : का पूरा प्रोसेस जाने 

एटीएम अब महज कैश निकालने की जगह नहीं है वहां  इनकम टैक्स भुगतान से लेकर निवेश करने या दान करने जैसे कई अनूठे और उपयोगी काम भी आप कर सकते हैं 

एटीएम यानी ऑटोमेटेड टेलर मशीन आज बेहद लोकप्रिय है क्योंकि वहां से सेकंड ओ में ताजे ताजे नोट निकल आते हैं लेकिन यह जानना रोचक है कि एटीएम महज कैश निकालने की जगह नहीं है वहा आप  टैक्स भुगतान से लेकर निवेश करने या दान करने जैसी कई अनूठे और उपयोगी काम भी कर सकते हैं 

कुछ बैंकों के एटीएम से तो आप लोन के लिए भी सीधे अप्लाई कर सकते हैं कैश निकालने के अलावा एटीएम से मिलने वाली ऐसी ही कुछ खास सुविधाएं की जानकारी देंगे 

1 : इन्वेस्टमेंट की सुविधा 

अब कई बैंकों के एटीएम द्वारा आपको निवेश करने की सुविधा भी दी जा रही है अगर फिक्स्ड डिपॉजिट करना चाहते हैं या किसी म्यूचुअल फंड में निवेश तो इसके लिए भी एटीएम का इस्तेमाल कर सकते हैं 

2 : अकाउंट बैलेंस या मिनी स्टेटमेंट

एटीएम से आप यह आसानी से पता कर सकते हैं आपके अकाउंट में कितना बैलेंस है अपने खाते का मिनी स्टेटमेंट हासिल कर पिछले चार-पांच ट्रांजैक्शन का विवरण भी जान सकते हैं आजकल लोग बैंक ब्रांच में नहीं जा पाते इसलिए यह पता नहीं चल पाता कि अकाउंट में कितनी राशि है और कहां-कहां पैसा खर्च किया है ऐसे में यह सुविधा बेहद उपयोगी है

ATM : use करने की जाने पूर्ण जानकारी


 3 : चेक बुक का ऑर्डर

मान लीजिए कि आपको कहीं चेक से पेमेंट करना है और आपके पास चेक बुक नहीं है तो अपने आसपास बैंक के एटीएम में जाकर आप चेक बुक के लिए भी आर्डर कर सकते हैं आपको ब्रांच जाने की जरूरत नहीं होती चेक बुक आपके घर आ जाएगी 

 4 : दो खातों के बीच मनी ट्रांसफर

कई लोगों के पास एक ही बैंक के दो ब्रांच में या एक ही ब्रांच में दो अलग-अलग अकाउंट होते हैं मसलन किसी एक के पास बैंक में एक कोई सैलरी अकाउंट होता है और दूसरा कोई रेगुलर अकाउंट अब मान लीजिए आपके लोन की ईएमआई रेगुलर अकाउंट से कटती  है और उसमें किसी महीने पैसे नहीं हैं तो आप सैलरी अकाउंट से रेगुलर अकाउंट में मनी ट्रांसफर एटीएम से भी कर सकते हैं यह ध्यान रखें कि एटीएम से मनी ट्रांसफर एक ही बैंक में दो अकाउंट के बीच ही होता है अलग-अलग बैंक के अकाउंट के बीच नहीं होता 

 5 : मोबाइल को रिचार्ज करें 

आपको यह जानकर अचंबा होगा कि किसी एटीएम से मोबाइल फोन का प्रीपेड सिम कार्ड भी रिचार्ज किया जा सकता है एटीएम के अंदर जाएं और कार्ड व  पिन नंबर डालने के बाद रिफिल योर प्रीपेड सिम ऑप्शन का चुनाव करने के बाद प्रोसीजर को फॉलो करें 

 6 : विभिन्न तरह के बिल का पेमेंट

किसी एटीएम जाकर आप अपने विभिन्न यूटिलिटी बिल्स का पेमेंट कर सकते हैं इससे आप लंबे क्यों में लगने या समय से पहले चेक से पेमेंट करने जैसी मुश्किलों से बच  सकते हैं बिजली का बिल फोन बिल बीमा प्रीमियम भुगतान क्रेडिट कार्ड बिल जैसे कई तरह के बिलों का भुगतान एटीएम से किया जा सकता है

7 : कैस या चेक जमा करें

यह एक ऐसी सुविधा है जो  कंज्यूमर के लिए बड़ी राहत बन कर आई है अब ऐसे एटीएम आने लगे हैं जिनके भीतर कैश जमा करने या चेक जमा करने की मशीन भी लगे होते हैं आप वहां जाकर आसानी से अपने या किसी खाते में कैश या चेक जमा कर सकते हैं इससे आपको बैंक जाकर लंबी लाइन से लगने के झंझट से बच जाते है 

 क्रिकेट के तकनीक व नियम जाने पूरा प्रोसेस 

1 : वाइड बॉल 

अंपायर की दृष्टि से यदि बॉलर द्वारा की गई गेंद पिच से बाहर है तथा ऊंची भी है जिसे बल्लेबाज ठीक प्रकार से नहीं खेल सकता है तो ऐसी बोल वाइड बॉल कहलाती है वाइट बॉल पर बल्लेबाज करने वाले दल को एक अतिरिक्त रन मिलता है फॉलो ऑन

टेस्ट मैचों में यदि कोई टीम दूसरी टीम से 200 रन कम बनाती है तो दूसरी टीम का कप्तान पहली टीम को दूसरी पारी खेलने को कह सकता है इसे ही फॉलोऑन कहते हैं

2 : सीमा रेखा 

यदि किसी खिलाड़ी के बल्ले से लगकर गेंद जमीन पर लुढ़क ती  हुई सीमा रेखा को पार कर जाती है बल्लेबाज को 4 दिन दिए जाते हैं इसे चौका कहते हैं यदि बल्ले से गेंद लेकर सीधी सीमा रेखा के बाहर बिना सीमा रेखा को टच किए बाहर जाकर गिरती है उसे  सिक्सर कहते हैं तथा  बल्लेबाज को 6 रन मिलते हैं 

10 : Kricket के तकनीक व नियम जाने


3 : बोल्ड 

यदि गेंद विकेट में लगती है तथा गिल्ली को गिरा देती है बल्लेबाज आउट माना जाता है चाहे गेंद बल्ले से लगकर ही क्यों ना आई हो 

 4 : ओवर

एक बॉलर एक समय में 6 गेंद फेंकता है इसे एक ओवर कहते हैं यदि किसी ओवर में एक भी रन नहीं बनता है तो उसे madin ओवर कहते है

नो बॉल यदि गेंद गेंदबाज द्वारा पूरा हाथ घूम आए बिना फेंकी जाए तो उसे नो बॉल कहते हैं इसके अतिरिक्त यदि बॉलर का पैर बॉलिंग क्रीज मैं नहीं रहे तो उसे भी 9 बॉल कहते हैं नो बॉल पर यदि बल्लेबाज कोई रन नहीं बनाता है तो उसकी टीम को एक अतिरिक्त रन मिलता है 

5 : बाई  

यदि कोई सही गेंद बल्ले को छुए बिना पीछे निकल जाए और विकेटकीपर भी उसे पकड़ ना पाए और बल्लेबाज रन बनाए तो इस प्रकार बनाए गए रन बाई के रन कहलाते हैं यह रंग कुल स्कोर में जोड़े जाते हैं बल्लेबाज के खाते में नहीं जोड़े जाते 

6 : लेग बाइ 

यदि की गई गेंद बल्लेबाज के शरीर के किसी भी अंग से लगकर  हाथों को छोड़कर दूर चली जाए और बल्लेबाज रन बनाए तो यह रन लेग  बाई के रन कहलाते हैं तथा कुल स्कोर में जोड़े जाते हैं परंतु यदि गेंद  बल्लेबाज के हाथों से टकराकर दूर चली जाती है और बल्लेबाज रन लेता है तो वे रन बल्लेबाज के खाते में जोड़े जाते हैं 

7 : एलबीडब्ल्यू 

यदि बल्लेबाज गेंद  को अपने शरीर के किसी हिस्से से रोकता है तो अंपायर की दृष्टि से सीधी विकेट की ओर जा रही थी और बल्लेबाज द्वारा उस गेंद  को शरीर से ना रोका गया हो तो उससे विकेट गिर सकती है तब बल्लेबाज एलबीडब्ल्यू आउट माना जाता हैं 

8 : कैच आउट 

बल्लेबाज के बेट  अथवा दस्तानों से छू कर गई गेंद हवा में यदि किसी क्षेत्र रक्षक द्वारा लपक ली जाती है तो बल्लेबाज कैच आउट माना जाता हैस 

आउट यदि बल्लेबाज विकेट पर गेंद लगने से पहले रन पूर्ण  करने हेतु पॉपिंग क्रीज में नहीं पहुंच पाता है वह रन आउट माना जाता है

9 :  स्टंप आउट 

यदि बल्लेबाज के शरीर का कोई अंग या बल्ला  पॉपिंग क्रीज में नहीं है तथा विकेटकीपर गेंद से विकेट को गिरा देता है तो इस दसा मे  बल्लेबाज को मैदान से बाहर मान लिया जाता है बल्लेबाज आउट माना जाता हैं

10 :  हिटविकेट 

यदि बल्लेबाज बल्ला घुमा तो है स्वम  ही अपनी विकेट गिरा देता है तो वह  हिटविकेट आउट माना जाता है चाहे विकेट बल्ले  से गिरे यह बल्लेबाज के शरीर से

जापान एक विकसित राष्ट्र के रूप में कैसे बना 

संपूर्ण एशिया के देशों में जापान और कुवैत विकसित राष्ट्र की श्रेणी में गिने जाते हैं उगते हुए सूर्य का देश कहलाने वाला जापान है एक विकसित राष्ट्र है इसे विकसित राष्ट्रों की विशेषताओं की कसौटी पर निम्न प्रकार  परखा जा सकता है 

उच्च कोटि का औद्योगिकरण 

जापान विश्व के प्रमुख औद्योगिक राष्ट्रों में गिना जाता है उच्च कोटि का औद्योगिकरण हो जाने के कारण ही जापान को पूर्व का ब्रिटेन कहा जाता है औद्योगिक विकास के स्तर में जापान को  ब्रिटेन के समकक्ष रखा जा सकता है जापान में जलयान निर्माण सूती वस्त्र रेशमी वस्त्र लोहा इस्पात एवं इलेक्ट्रॉनिक आदि निर्माण उद्योगों का विकास उच्च स्तर पर कर लिया गया है अतः इसे विकसित राष्ट्र कहां जाना उचित है

JAPAN :- एक विकसित राष्ट्र देश क्यों हैं

 

 तकनीक एवं विज्ञान का विकास

 जापान में उच्च कोटि की तकनीक एवं विज्ञान का विकास करके अपनी आर्थिक प्रगति के द्वार खोल लिए हैं और यह विकसित राष्ट्रों की श्रेणी में पहुंच गया है 

 सीमित संसाधनों का कुशलता उपयोग 

 जापान में प्राकृतिक संसाधन सीमित मात्रा मैं है परंतु उसने अपने सीमित प्राकृतिक संसाधनों का कुशलता में उपयोग करके अपने लिए विकसित राष्ट्र बनने के मार्ग को लिए हैं

 उच्च कोटि की परिवहन एवं संचार व्यवस्था 

जापान ने  तेज गति से दौड़ने वाली रेलगाड़ियों का विकास कर लिया है यहां सड़क वायु एवं जल मार्ग अत्यंत विकसित अवस्था में है इस देश ने संचार के साधनों का अत्याधुनिक विकास करके स्वम  को विकसित राष्ट्रों की पंक्ति में ले जाकर खड़ा कर दिया है 

  प्रति व्यक्ति आय और राष्ट्रीय आय का उच्च स्तर

 जापान में प्रति व्यक्ति आय और राष्ट्रीय आय का स्तर ऊंचा है इस आधार पर भी जापान को विकसित राष्ट्र कहा जा सकता है वर्तमान समय में जापान की गड़न  विश्व के प्रमुख औद्योगिक और विकसित राष्ट्रों में की जाती है

बड़े पैमाने के उद्योग 

हम जानते हैं कि किसी भी देश का आर्थिक विकास क्षेत्रों के पारस्परिक सहयोग पर निर्भर करता है   कृषि लोगों को रोजगार एवं आजीविका प्रदान करती है 

कुटीर ग्रामीण एवं लघु उद्योग रोजगार देकर कृषि पर जनसंख्या के अतिरिक्त भार को कम करते हैं लोगों की आय बढ़ाते हैं विशाल स्तरीय उद्योगों के दुष्प्रभाव से मुक्ति दिलाते हैं 

तथा सामाजिक एवं आर्थिक न्याय एवं आर्थिक स्थिरता के साथ विकास को संभव बनाते हैं आज नेवेसित  स्थिर पूंजी का बहुत बड़ा भाग विशाल स्तरीय उद्योगों में लगा हुआ है 

इन उद्योगों का विस्तार हुआ है एवं उनमें विविधता आई है इनके फल स्वरुप औद्योगिक उत्पादन तेजी से बढ़ा है भारत में बड़े पैमाने के उद्योगों को निम्न प्रकार वर्गीकृत  किया जा सकता है 

Kiya Aap Jante Hai : बड़े पैमाने के उधोग


आधारभूत उद्योग

वे उद्योग जो महत्वपूर्ण उद्योगों एवं कृषि को आवश्यक हैं निविस्टिया  इनपुट्स प्रदान करते हैं आधारभूत उद्योग कहलाते हैं इनमें प्रमुख हैं लोहा व इस्पात उद्योग सीमेंट उद्योग रासायनिक उर्वरक उद्योग कोयला उद्योग खनिज तेल उद्योग एवं भारी इंजीनियरिंग वह मशीन यंत्र उद्योग

पूंजी वस्तु उद्योग 

वे उद्योग जो कृषि एवं उद्योग के लिए मशीनरी उपकरणों वे उपस करो का उत्पादन करते हैं पूंजीगत उद्योग कहलाते हैं इनमें ट्रैक्टर ट्रांसफार्मर मोटर वाहन आदि से संबंधित उद्योग आते हैं 

मध्यवर्ती वस्तु उद्योग 

इन उद्योगों में उन वस्तुओं का उत्पादन किया जाता है जो दूसरे उद्योगों की उत्पादन प्रक्रिया में प्रयुक्त होती हैं इन वस्तुओं का उपयोग पूंजी वस्तुओं के सहायक उपकरण के रूप में भी किया जाता है 

उपभोक्ता वस्तु उद्योग

यह उद्योग उपभोक्ता वस्तु का उत्पादन करते हैं जैसे चीनी कागज वस्त्र आदि

 बादाम : के फायदों का करे इस्तेमाल घऱ पर ही 

वैसे तो बादाम के फायदे अनेक हैं पर लोगों इसके फायदों के बारे मैं ज्यादा कुछ नहीं पता है। तो आज हम आपको कुछ बादाम के ऐसे फायदों के बारे मैं बतायगे।

शायद ही आपको किसी ने न बताया हो । ये तो आपको पता ही होगा कि बादाम दिमाग के लिए बहुत ही लाभदायक सिद्ध हुआ है। परंतु इसके भी कुछ इस्तेमाल हैं। 

अगर आप बादाम Direct सेवन करेंगे तो आपको फायदे की बजाय कही आपके लिए नुकसानदायक न बन जाये । हमने आपको इस Post मैं बादाम के सिर्फ 3 फायदों के बारे मैं बताया है।

3 + Badam : ke Faydo ka kre istemal Ghar par hi


दिमाग के लिए 

10 बादाम की गिरी रात को पानी में भिगोकर सुबह छिलका उतारकर बारी करके 10 ग्राम मक्खन 10 ग्राम मिश्री मिलाकर 1 महीने खाएं दिमाग के  लिए बहुत अच्छा है 

नजर के लिए 

बादाम की गिरी 150 ग्राम मिश्री 150 ग्राम सोंप  150 ग्राम सबको बारीक  करके रात को 10 ग्राम 250 ग्राम दूध के साथ 40 दिन खाएं नजर तेज करेगा दिमागी कमजोरी है याददाश्त बढ़ाने  के लिए बढ़िया तरीका है 

तोतले पन के लिए 

बादाम की गिरी 50 ग्राम चांदी के वर्क 10 दालचीनी 10 ग्राम लॉन्ग 3 ग्राम पिस्ता 200 ग्राम केसर  बढ़िया 3 ग्राम सबको बारीक  करके 250 ग्राम शहद में मिलाकर 2 ग्राम की खुराक दिन में एक 250 ग्राम दूध  के साथ इस्तेमाल करें यह खुराक बड़े आदमी के लिए है बच्चों को आधी  खुराक दें

 3 टिप्स ;- मूली के घरेलु उपचार के लिए ***

 हरी सब्जियों मैं एक सब्जी मूली भीं आती हैं जिसका सेवन हम सलाद के रूप मैं करते हैं या उसको नमक के साथ  खाते हैं परन्तु इन चीजों का सेवन अगर तरीके से किया जाए तो ये और भी लाभदायक होती हैं 

जिसके बारे में हमने आपको निचे बताया हैं की  आप कैसे मुली के घर पर ही उपचार कर सकते हैं  

दाद के लिए***

 मूली के फायदे मूली के बीज गंधक आमलासार  गूगल 20:20 ग्राम नीला  तूतिया 1 ग्राम सबको बारीक़  करके आधा पाव पानी में घिसकर रख ले और फिर दाद पर लगाएं कुछ दिन के बाद दाद ठीक हो जाएगा 


3 Tips ;- Muli ke Gharelu Upchar ke liye


पेशाब के लिए ***

मूली का अचार जिसमें नमक और काली मिर्च हो रोजाना खाने से तिल्ली  और पेशाब लगकर और कचरा आने को फायदा  करता है 

बवासीर के लिए***

 रसौत 20 ग्राम एक मूली को खोखला कर के उस में भरकर मुंह बंद करके उपलों की आग पर भस्म  कर ले दूसरे दूसरे दिन रसोद को निकालकर मूली के रस में मोटे बेर के बराबर गोलिया बनाएं एक गोली सुबह एक शाम को पानी के साथ खाने से फायदा करेगा गर्म चीजों का परहेज करें

 4 टिप्स गाजर से घरेलु उपचार के लिए

गाजर को चाहे कच्ची खाओ या पक्की फायदा ही हैं परन्तु हमने आपको गाजर के बारे मैं कुछ टिप्स दिए हैं जिन्हे आप अगर फॉलो करेंगे तो आपको  और भी बेहतर फायदे होंगे 

परन्तु कुछ बनाने के लिए कुछ समय तो लगता ही हैं मगर ये जो गाजर का नुस्खा आप पढ़ेंगे जो बहुत ही जबरदस्त होने वाला हैं हमने आपको इसमें ४ टिप्स दिए हैं चलिए जानते हैं गाजर किस किस चीज मैं फायदा करती हैं 

 आधे सिर में दर्द

 इसके लिए आपको धोखा गाजर के पत्तों का पानी गर्म करके नाक और कान में डालें पथरी के लिए गाजर के बीज और शलजम के बीज 20 20 ग्राम ले और मूली को अंदर से खोखला कर के गर्म राख में भुरते  की तरह भून  ले जब भून  जाए तो बीज निकालकर पीस लें 

 6 ग्राम सुबह शाम पानी के साथ एक महीना खाएं बंद पेशाब खुलेगा और पथरी घोलकर निकल जाएगी


4 Tips ;- Gajar se Gharelu Upchaar ke liye


माहवारी के लिए

गाजर के बीज 30 ग्राम कूटकर  500 ग्राम पानी में उबालें जब पानी आधा रह जाए तो थोड़ी शक्कर डालकर दो-तीन दिन पिलाएं माहवारी  खुलकर आ जाती है 

जिगर की गर्मी के लिए

 गाजर 100 ग्राम गुड़ 100 ग्राम तीन पाव पानी में रात को आग पर पका लें  जब गाजर गल जाएं तो सुबह चांदी के दो वर्क लगा कर खाएं जिगर की गर्मी और पीलिया  को फायदा करेगी 10 दिन खाएं दिल को ताकत देता है

 ताकत के लिए

1 किलो गाजर कद्दूकस में घिस लें  फिर 4 किलो दूध में पकाने जब दूध सूख जाए तो 250 ग्राम देसी घी  और 10 अंडे डालकर भून  ले रोजाना 60 ग्राम खाकर ऊपर से दूध पी ले एक महीना तक खाएं

 मर्दाना ताकत के लिए बढ़िया चीज है चीनी आधा किलो डाले दिमाग को भी ताकत देता है आधा किलो चीनी भी डाल लें  

 जामुन :- एक ऐसा फल जो अनेक रोग में काम आये

हमने आपको जामुन के बारे मैं कुछ टिप्स दिए हैं जिन्हे पढ़कर आप फायदा उठा सकते हैं वैसे तो जामुन अपने सीजन मैं ही आती हैं परन्तु आप उस समय  आप जामुन से अपने रोग का उपचार कर सकते हैं रोग मैं ही नहीं बल्कि कोई जामुन को ऐसे  भी खा ले तो उसको भी फायदा करता हैं तो चलिए जान लेते हैं

जामुन के फायदे ;

 पेशाब का बार बार आना जामुन की गुठली बेहड़े  का छिलका दोनों को बराबर पीसकर 4 ग्राम रोजाना 8 दिन पानी के साथ खाएं 

खूनी दस्त ;

 जामुनकी गुठली को बारीक करके 4-4 ग्राम सुबह-शाम सौ ग्राम ताजे पानी से लें 20 दिन खाएं खूनी दस्त बहुत फायदा करता है 

5 TIps-Jamun :- Ek Aisa Fruite Jo Anek Rog Main Kaam Aaye



माहवारी के लिए ;

 जामुन की हरी ताजा छाल 20 ग्राम पानी में रगड़ कर छानकर सुबह-शाम पिलाने से माहवारी  का खून ज्यादा आने को कम करने में मदद करता है

 लिकोरिया के लिए जामुन ;

 जामुन की हरी ताजा छल छाया में सुखाकर बारी करके 4-4 ग्राम सुबह शाम बकरी या गाय के दूध के साथ खाने से औरतों की प्रदर रोग को फायदा करता है

 दातों के लिए ;

जामुन की हरी छाल बारीक करके मंजन की तरह मलने से दांतो की सब बीमारियों के लिए बहुत अच्छा है पायरिया के लिए भी अच्छा है

 Anar ;- ke gharelu upchaar bna sakte hain apko perfect.

अनार के फायदों के बारे में जानिए एकदम बढ़िया तरीके से अनार तो सब जानते हैं ही | परन्तु इसके उपयोग अगर अच्छे तरीके से किये जाए तो आपको बहुत होगा | हमने आपको कुछ अनार के घरेलु उपचार के बारे में बताया हैं | जिन्हें आप घर पर ही करके फायदा उठा सकते हैं | 

दांत मजबूत 

अनार के फूल छाया में सुखाकर बारीक कर के मलने  से ख़ून  बंद और दांत मजबूत होते हैं 


Anar ;- ke gharelu upchaar bna sakte hain apko perfect.


पीलिया के लिए

 मीठे अनार के दानों का रस 50 ग्राम रात को लोहे के बर्तन में करके छत पर रख दो सुबह को थोड़ी कुंजा मिश्री मिलाकर 20 25 दिन पिलाएं कमल वाय  अरकान ठीक होगा परहेज कटाई का करें 

 खांसी के लिए 

मीठे अनार का छिलका 20 ग्राम लाहौरी नमक 3 ग्राम बारीक़  करके पानी में एक 1 ग्राम की गोलियां बनाएं दिन 3 बार 2 से 2 गोलियां को चूसे खटाई का परहेज करें 6 ग्राम अनार का छिलका थोड़े दूध में उबालकर पीने से  काली खांसी को आराम मिलता है 

पेशाब के लिए

 अनार का छिलका बारीक़  करके 4 ग्राम ताजे पानी के साथ दिन में दो बार खाने से मसाने की गर्मी और पेशाब का बार बार जाना ठीक होता है   10 दिन तक खाएं चावलों का परहेज करें

 स्वपनदोष कंधारी 

अनार का छिलका बारीक़  करके 3 ग्राम सवपन रोग  ठीक  करता है 10 दिन तक खाएं और खटाई का परहेज करें रात को दूध ना पिए

Aam ;- ke gharelu nuskhe jo aap bhi bna sakte hain ghar par he.

आज हम आपको आम के फायदों के बारे में बतायगे  जिन्हें आप घर पर ही आसानी से कर सकते हैं वैसे तो सभी लोग आम खाते हैं लेकिन घरेलू उपचार करने का पता किसी किसी को होता है तो आपको आज बताएंगे कि आम के कितने घरेलू उपचार आप कर सकते हैं वह भी बड़ी आसानी से तो चलिए सीख लेते हैं

हाजमा 


मीठे आम का रस 20 ग्राम सोंठ  2 ग्राम पीसकर मिला लें सुबह के वक्त पीने से जिनका खाना ठीक से हजम नहीं होता हो उनके लिए बहुत अच्छा है 7 दिन तक पिए 


 ताकत के लिए 

मीठे आम का रस 125 ग्राम दूध 250 ग्राम शक्कर मिलाकर लस्सी की तरह बना कर 2 महीनों तक शाम को पिए मर्दाना ताकत और शरीर की कमजोरी को ठीक करने के लिए बहुत बढ़िया है बर्फ डाल कर भी पी सकते हैं

 

Aam ;- ke gharelu nuskhe jo aap bhi bna sakte hain ghar par he.


लू से बचने के लिए 

दो कच्चे आम गरम आग में भूनकर उनका गुदा निचोड़ कर 250 ग्राम पानी में थोड़ी बर्फ और चीनी मिलाकर दिन में दो बार पिए लू की बीमारी को ठीक करता है 


अगर गर्भवती महिला को उल्टी आती हो  

आम का रस 20 ग्राम गुलाब का अर्क  20 ग्राम कैल्शियम वाटर 20 ग्राम सब को मिलाकर दिन में तीन बार पिलाने से गर्भवती की उल्टी को फायदा करता है यह एक ख़ुराक  का वजन है मंजन भी बना सकते हैं आम के पत्ते छाया में सुखाकर जलाकर बारीक पीसकर रोजाना मलने  से ख़ून  बंद करके दांत सफेद करता है

Nimbu : ke fayde kiya kiya khasiyat hai nimbu main jaaniye👇

वैसे तो नींबू का सभी लोग इस्तेमाल करते हैं | जाने किस किस चीजो में डालकर खाते हैं परन्तु हमने कुछ ऐसे टिप्स बताये हैं | जो आपके फायदे के लिए हैं | नींबू का इस्तेमाल अगर इन चीजो के साथ किया जाये तो आपको जरुर फायदा करेगा | आजकल तो नींबू आसानी से मिल ही जाता हैं | तो क्यों न हम इसका फायदा उठाये | और वैसे भी नींबू कोई नुकशान दायक चीज तो नही हैं | के इससे मुझे  कोई साइड इफ़ेक्ट पढ़ सकता हैं | 

  • पेट दर्द के लिए👇 

नींबू नमक और अजवाइन जीरा चीनी सब दो-दो ग्राम बारीक करके थोड़ा नींबू निचोड़ कर खाने से दर्द को फायदा करता है गर्म पानी से खाएं दांत के दर्द के लिए थोड़ा लोंग  पीसकर नींबू निचोड़ कर मलने से दर्द ठीक होगा खाने का सोडा मलने से भी दर्द ठीक होता है 

Nimbu :- ke fayde kiya khasiyat hai nimbu main jaaniye


  • पेचिश का आना 

आधा पाव ताजा पानी में नींबू निचोड़ कर तीन बार पी पेचिश को फायदा होगा सिर का चक्कर आना पेट की गैस की वजह से सर चकराता हो दौरा पड़ता हो  एक प्याली गर्म पानी में नींबू निचोड़ कर 8 दिन पिलाएं सर चकराना जल्दी ठीक हो जाएगा 


  • सीने की जलन 


250 ग्राम ठंडे पानी में नींबू निचोड़ कर पीने से सीने की जलन और दिल घबराने को आराम  देता है



  •  खूनी बवासीर


 एक नींबू काटकर 4 ग्राम कथा  पीसकर नींबू पर छिड़ककर और रात को छत पर रख दें सुबह दोनों टुकड़े चूस ले खून बंद करने के लिए बढ़िया दवा है 4 दिन इस्तेमाल करके देखें 


  • मोटापा दूर करना 


एक नींबू 250 ग्राम पानी में निचोड़ कर निहार मुंह पिये गर्मियों में 2 महीने पीने से जिस्म हल्का हो जाता है 


  • नुस्खा  पेट के रोग के लिए 


त्रिफला अजवाइन काला नमक 50-50 ग्राम काली मिर्च टोला घी  गवार आधा किलो सब को कूटकर छान कर घीक्वार के छोटे-छोटे टुकड़े करके मिट्टी के बर्तन में 15 दिन तक धूप में रख दें दवा तैयार हो जाएगी


  •  पेट में बाय दर्द 

कब्ज का बनना भूख ना लगना वगैरा-वगैरा के लिए दो टुकड़े गर्म पानी के साथ दिन में दो बार खाना खाने के बाद खाएं पेट के सभी रोग दूर होंगे सेंधा नमक को 30 ग्राम मिलाएं पेट का फूलना जी मिचलाना खट्टी  डकार आना बंद होगा गैस  को भी ठीक करेगा